संगवारी रे – देवेश डहरिया, स्वर्णा दिवाकर | Sangwari Re CG Song lyrics

❤️ संगवारी रे ❤️
🌺 Sangwari Re CG Song lyrics🌺

  • गीत – संगवारी रे
  • स्वर – देवेश डहरिया, स्वर्णा दिवाकर
  • गीतकार – दास मनोहर
  • संगीत – देवेश डहरिया
  • लेबल – AVM GANA






स्थायी

जियौं नही तोर बिना हावस मोर परान तही

लेले कसम वो सिरतो धरम अउ इमान तही

जियौं नही तोर बिना हावस मोर परान तही

लेले कसम वो सिरतो धरम अउ इमान तही


मर जाहूं हांस के एक तोर प्यार म

मर जाहूं हांस के एक तोर प्यार म

संगवारी रे तोर बिना का रखे हे मोर संसार म

दीवानी रे तोर सिवा कोन हे अउ मोर संसार म


जियौं नही तोर बिना हावस मोर परान तही

लेले कसम रे सिरतो मोर भगवान तही

जियौं नही तोर बिना हावस मोर परान तही

लेले कसम रे सिरतो मोर भगवान तही


मर जाहूं हांस के एक तोर प्यार म

मर जाहूं हांस के एक तोर प्यार म

संगवारी रे तोर सिवा का रखे हे मोर संसार म

दीवाना रे तोर बिना का रखे हे मोर संसार म


अंतरा 1

हो चंदा देखथौ त दिखे तोर चेहरा

पिरीत के घटा लागै आंखी के तोर कजरा


जब ले बंधेहे मोर तोर संग बंधना

सरग ले सुग्घर लागे हमर घर अंगना


ये दुनिया म संगी रे मोर पहिचान तही

जिनगी के रखवाला गरब गुमान तही

ये दुनिया म संगी रे मोर पहिचान तही

जिनगी के रखवाला गरब गुमान तही


तही तो हावस रे मोर सिंगार ना

तही तो हावस रे मोर सिंगार ना

संगवारी रे तोर बिना का रखे हे मोर संसार म

दीवाना रे तोर सिवा का रखे हे मोर संसार म


अंतरा 2

रंगे हौ रंग म मैं तो सराबोर रे

चाहे जग बैरी हावै पूजा करहूं तोर रे


भले छाए दुख के घटा घनघोर वो

छोड़ौ नही तोला कभू वादा हे मोर वो


आए मोर जिनगी म बन के मुसकान तही

मैं अंव मरद त ये मरद के जुबान तही

आए मोर जिनगी म बन के मुसकान तही

मैं अंव मरद त ये मरद के जुबान तही


मर जाहूं हांस के एक तोर प्यार म

मर जाहूं हांस के एक तोर प्यार म

संगवारी रे तोर बिना का रखे हे मोर 

दीवानी रे तोर सिवा कोन हे अउ मोर संसार म


तोर बिना का रखे हे मार संसार म

तोर सिवा कोन हे अउ मोर संसार म

तोर बिना का रखे हे मार संसार म

तोर सिवा कोन हे अउ मोर संसार म




Leave a comment

error: Content is protected !!