मोहना लिखाले लिखाले – दुकालू यादव | Mohna Likhale Likhale Lyrics | Dukalu Yadav Hori Geet

 मोहना लिखाले लिखाले
Mohna Likhale Likhale Lyrics
Dukalu Yadav Hori Geet 

  • गीत – मोहना लिखाले
  • गायक – दुकालू यादव
  • गीतकार – रज्जु रायपुरिहा
  • संगीतकार – दुकालू यादव
  • लेबल – सुन्दरानी



स्थायी

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म


जियत ले छुटै नही, जियत ले छुटै नही

जियत ले छुटै नही रही तोर साथ मा

मोहना लिखाल लिखाले राधा तोर हाथ म

मोहना लिखाल लिखाले राधा तोर हाथ म


अंतरा 1

श्याम रंग में राधा राम लिखाबे वो

कृष्ण रूप में मोला द्वापर म पाबे वो

मया हा माहके माहके

मया हा माहके

मया हा माहके बन के रात रानी रात म

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म


अंतरा 2

राधा वो सुन किसन के पिचका कलम हे

रंग स्याही ओखर जेमा बड़ा दम हे

लेले मजा लेले आजा

लेले मजा लेले

लेले मजा लेले आजा तैं हा ताते तात म

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म


अंतरा 3

आँखी के ज्योति बना ले सांसा के डोरी वो

पिरीत के रंग भरे हे बिरिज किशोरी वो

आए नही रायपुरिहा 

आए नही रायपुरिहा 

आए नही रायपुरिहा आज तोर बात म

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म


जियत ले छुटै नही, जियत ले छुटै नही

जियत ले छुटै नही रही तोर साथ मा

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म

मोहना लिखाले लिखाले राधा तोर हाथ म



Leave a comment

error: Content is protected !!